रमन की चतुराई कहानी हिंदी में | Raman’s cleverness story in hindi

रमन की चतुराई कहानी हिंदी में  Raman's cleverness story in hindi
रमन की चतुराई कहानी हिंदी में Raman’s cleverness story in hindi

रमन की चतुराई कहानी हिंदी में | Raman’s cleverness story in hindi

Raman’s cleverness story in hindi: एक बार की बात है हंसपुर गांव में एक बलदेव नाम का एक मुखिया रहता था। वह बहुत ही कंजूस किस्म का था और लोगों की भलाई के लिए पैसे खर्च करने से बचता था। एक बार उस गांव में बहुत सूखा पड़ गया जिससे लोगों को पिने के पानी के लिए बहुत दिक्कत हो रही थी।

गांव के लोग दूसरे गांव से पानी लाकर कुछ दिनों तक अपना काम चलाते रहे लेकिन उसके बाद उनने भी पानी देने से मना कर दिया। इसके बाद गांव के लोग मुखिया के पास गए और उसको बोला आप गांव में एक कुआँ खुदवा दो जिससे गांव के लोग सूखे की स्थिति में उससे पानी पी सके।

मुखिया ने कहा कुआँ खुदवाने के लिए बहुत पैसे लगेंगे इतने पैसे मेरे पास नहीं है। यह कहकर वह चला गया। गांव में रमन नाम का एक चतुर लड़का रहता था। उसने गांव वालों से कहा हम गांव वालों को ही मिलकर कुआँ खोदना चाहिए।

उसकी इस बात को सब गांव वाले मान गए। सभी गांव वालों ने पैसे इकट्ठे किये और कुआँ खुदाई का काम शुरू किया। कुछ दिन कुआँ खोदने के बाद नीचे कुँए में एक बहुत बड़ा पत्थर आ गया। जिसके कारण कुआँ खोदने का काम रुक गया।

रमन की चतुराई कहानी हिंदी में | Raman’s cleverness story in hindi

पत्थर को तोड़ने के लिए और भी पैसों की जरुरत थी लेकिन जमा किये गए पैसे उसके लिए पर्याप्त नहीं थे। रमन ने गाँव वालों से कहा यह काम अब तुम मुझ पर छोड़ दो। रमन ने रात को जब कोई नहीं था तब आकर कुँए में 5 – 6 पीपे तेल के उस कुँए में डाल दिए।

सुबह जब गाँव के लोगों ने कुँए में तेल देखा तो पुरे गाँव में यह बात फ़ैल गयी की कुँए में से तेल निकल रहा है। जब गांव के मुखिया को यह बात पता लगी की कुँए में से तेल निकल रहा है तो उसने लालच में गाँव वालों से कहा इस पत्थर को मै तुड़वा देता हूँ और कुआँ भी पूरा मै खुदवा देता हूँ।

इसके बाद उसने बाक़ी कुआँ खुदवाना चालू किया। कुछ दिनों में पूरा कुआँ खुद गया। मुखिया इसमें से तेल निकलने की उम्मीद कर रहा था लेकिन कुँए में से पानी निकलने लगा। सब गाँव वाले पानी को पाकर बहुत खुश हुए।

यह भी पढ़े: चोटी वाला जिन्न की कहानी हिंदी में 

मुखिया को पता चल गया की किसी ने उसको बेवकूफ बनाया है। इस तरह रमन की चतुराई से गाँव वालों के पैसे भी बच गए और कुआँ भी खुद गया।