कटहल का पेड़ कहानी हिंदी में | Jackfruit tree akbar birbal story in hindi

76 / 100 SEO Score
कटहल का पेड़ कहानी हिंदी में  Jackfruit tree akbar birbal story in hindi
कटहल का पेड़ कहानी हिंदी में | Jackfruit tree akbar birbal story in hindi

कटहल का पेड़ कहानी हिंदी में | Jackfruit tree akbar birbal story in hindi

Jackfruit tree akbar birbal story in hindi: एक बार की बात है अकबर का एक माली था मीर जो की अकबर के बगीचे में फूल पौधे लगाने का काम करता था। बीरबल को बगीचे में घूमना बहुत अच्छा लगता था इस तरह बीरबल और मीर माली काफी समय साथ में बिताते थे।

एक दिन जब बीरबल बगीचे में घूमने के लिए गए तो देखते है की मीर एक कटहल के पेड़ के पास बैठ कर रो रहा था। बीरबल ने मीर से रोने का कारण पूछा तो पहले तो मीर ने मना किया लेकिन बाद में ज्यादा पूछने पर उसने बीरबल को बताया की उसने कटहल के पेड़ के निचे एक मटका दबा रखा था जिसमे उसने 20 वर्षों से अपनी मेहनत की कमाई जमा कर रखी थी।

यह उसने अपने बुढ़ापे के लिए जमा कर रखा था। लेकिन किसी ने उसका मटका चुरा लिया। अब वह क्या करेगा मीर बहुत दुखी था। बीरबल ने मीर से पूछा तुमने मटके को यहाँ पर क्यों दबाया। मीर बोला मै सारा दिन यहाँ काम करता था और मैंने सोचा इससे सुरक्षित जगह कहा हो सकती है इसलिए मैने उसको यहाँ कटहल के पेड़ के नीचे दबा दिया।

बीरबल ने मीर को कहा जिसने भी तुम्हारा मटका चुराया है मै उसको ढूंढ लूंगा। बीरबल ने इसके बाद काफी सोचा की आखिर कौन ऐसा व्यक्ति हो सकता है जो कटहल के पेड़ के नीचे खुदाई करेगा। इसके बाद जब दरबार लगा तो बीरबल ने अकबर को मीर के मटके चोरी की बात बताई।

कटहल का पेड़ कहानी हिंदी में | Jackfruit tree akbar birbal story in hindi

बीरबल ने दरबार में मौजूद सभी मंत्रियो से पूछा जो बगीचे का इस्तेमाल करते थे की किसी को अभी 1 से 2 दिनों के अंदर कोई बीमारी हुई थी। तब एक मंत्री ने बोला की उसको गले में दर्द था बीरबल ने पूछा तो उसने क्या किया।

मंत्री बोला की उसकी बीवी ने एक काढ़ा बनाया जो वह अपने मायके से लेकर आयी थी। एक दूसरा मंत्री बोला उसको कब्ज़ की शिकायत थी। बीरबल ने पूछा की तुमने क्या किया। मंत्री बोला एक वैद्य है मैने उससे दवा ली जिसका प्रयोग करके मै पूरी तरह से ठीक हो गया।

बीरबल ने उस वैद्य को बुलाने को बोला। बीरबल ने वैद्य से पूछा तुमने मंत्री को कब्ज़ की दवा दी थी। वैद्य बोला हा मैंने उनको दवा दी थी यदि आपको दवा चाहिए तो मै आपके लिए भी ऐसी दवा बना सकता हूँ। बीरबल ने बोला तुमने वह दवा कैसे बनाई।

Akbar birbal ki kahani hindi me

वैद्य बोला इसमें मैंने कटहल के जड़ का अर्क डाला था। बीरबल बोला कटहल की जड़ का अर्क तो बहुत ही दुर्लभ है। इस पर वैद्य बोला महल के बगीचे में ही कटहल का पेड़ है। बीरबल ने वैद्य से मटके के बारे में पूछा तो उसने सच बता दिया की उसे ही जड़ की खुदाई के दौरान वह मटका मिला जिसे उसने रख लिया।

बीरबल ने मीर माली को बुलाया और उससे पूछा तुम्हारे मटके में कितने सोने के सिक्के थे। माली ने बताया उसमे 75 सोने के सिक्के थे। बीरबल ने कहा उसमे से तुमको 10 सोने के सिक्के कम मिलेंगे क्योंकि तुमने ऐसी जगह पर अपने सोने के सिक्के को दबाया।

यह भी पढ़े: इनाम अकबर बीरबल कहानी हिंदी में

10 सोने के सिक्के वैद्य को सच्चाई के लिए मिलेंगे जिसने सच बात को बताया। बादशाह अकबर बीरबल की इस चतुराई और न्याय से प्रसन्न हुए और उनकी तारीफ़ की।