Annabelle Doll Real Story in Hindi | एनाबेल डॉल की सच्ची कहानी

Spread the love
Annabelle Doll Real Story in Hindi
Annabelle Doll Real Story in Hindi

Annabelle Doll Real Story in Hindi

Annabelle Doll Real Story in Hindi: दोस्तों आज हम आपको एनाबेल डॉल की सच्ची कहानी सुनाने वाले है। इस डॉल के ऊपर 2013 में The conjuring फिल्म भी बनाई गयी है। यह एनाबेल डॉल और डोना नाम की लड़की की कहानी है। इस कहानी में आप जानेंगे की कैसे एक doll ने डोना और उसके दोस्तों को परेशान किया। जिससे बाद में बड़ी मुश्किल से उन्होंने कैसे छुटकारा पाया।

यह कहानी 1970 की है। एक डोना नाम की एक लड़की थी। वह मेडिकल की पढाई कर रही थी। उसे बचपन से ही गुड़ियों से खेलने का बहुत शौक था। एक दिन उसकी माँ ने गिफ़्ट के रूप में डोना को एक डॉल दी। जब डोना ने उस डॉल को देखा तो वह बहुत खुश हुई।

उस समय डोना अपनी दोस्त Angie के साथ एक अपार्टमेंट में रहती थी। कभी कभी डोना उस डॉल को कॉलेज जाते समय यदि बेड पर रखकर जाती तो वापिस आने पर डॉल कुर्सी या दूसरी जगह मिलती थी। यह बात डोना और उसकी दोस्त Angie को बहुत अजीब लगी। धीरे धीरे doll के दूसरी जगह पर मिलने की घटना बढ़ने लगी।

एक दिन जब डोना और उसकी दोस्त जब अपार्टमेंट में कॉलेज से आये तो उनको अपार्टमेंट में बहुत से पेपर मिले। उन पेपर में लिखा था Help !

जिसे देखकर वह दोनों हैरान हो गए। लेकिन उन्होंने इस पर भी ज़्यादा ध्यान नहीं दिया। एक दिन जब डोना और उसकी फ्रेंड कॉलेज से आये तो उन्होंने देखा की उस डॉल की आँखों से खून के आँसू आ रहे थे। जिसे देखकर दोनों घबरा गए। उन्होंने तभी पैरानॉर्मल एक्सपर्ट को बुलाया।

जिसने डोना को बताया की उस डॉल में 7 साल की Annabelle Higgins की आत्मा है। जिसकी मौत कुछ साल पहले हो गयी थी। यह इतनी छोटी है की यह किसी को कोई नुक्सान नहीं पहुँचा सकती। इसको दुलार की जरुरत है। यह सुनकर डोना और उसकी दोस्त ने उस डॉल को वही रखने का निर्णय किया।

कुछ दिनों के बाद डोना का दोस्त Lou भी वहाँ रहने आ गया। Lou को जब Annabelle doll के बारे में पता लगा तो वह उस डॉल को वहाँ रखने के पक्ष में नहीं था। एक दिन रात को जब Lou सो रहा था तो उसको ऐसा महसूस हुआ जैसे उसके हाथ पैर काम नहीं कर रहे है।

जब Lou ने देखा तो उसके कमरे में Annabelle डॉल आ रखी थी। एनाबेल डॉल Lou को घूर कर देख रही थी। जिसके बाद Lou बेहोश हो गया। अगले दिन जब Lou उठा तो उसको यह याद नहीं था की उसने सपना देखा था या हकीकत में उसके साथ ऐसा हुआ था।

एक दिन डोना बाहर गयी थी। तब Angie और Lou अपार्टमेंट में थे। तभी Lou को अपनी छाती में कुछ दर्द महसूस हुआ। जब Lou ने देखा तो उसकी छाती में किसी जानवर के पँजे के घाव के निशान थे।

इसके बाद उन्होंने पादरी father cook को बुलाया। पादरी ने भी इस काम के लिए पैरानॉर्मल एक्सपर्ट Ed और Lorraine warren को बुलाया। उन्होंने Annabelle डॉल को कार की पीछे की सीट पर रख कर अपने घर के लिए निकल पड़े। रास्ते में उनको ऐसा महसूस हुआ जैसे उनकी कार की स्टेयरिंग और ब्रेक जाम हो गए है। उन्होंने तभी डॉल पर पवित्र जल छिड़का। जिससे वह सुरक्षित अपने घर पहुंच सके।

उनके घर पर भी वह डॉल एक जगह से दूसरी जगह अपने आप जाने लगी। उन्होंने तब कैथोलिक पादरी father Jason Bradford को बुलाया। पादरी ने Annabelle डॉल को कहा की तुम सिर्फ एक डॉल हो तुम किसी को नुकसान नहीं पहुँचा सकती। इसके बाद जब पादरी घर जाने लगे तो उनकी गाड़ी का एक्सीडेंट होते होते बचा।

तब Ed और Lorraine warren ने निर्णय किया की वह उस डॉल को एक म्यूजियम में रखवा देंगे। उन्होंने Annabelle doll को एक वुडेन बॉक्स में रखकर पादरी से पवित्र जल छिड़कवा कर उसे एक occult museum में रखवा दिया।

एक दिन एक दर्शक उस डॉल को देखने आया उसने उस डॉल का मज़ाक उड़ाया। जब वह अपनी फ्रेंड के साथ घर जा रहा था तो उसकी बाइक का एक्सीडेंट हो गया। जिसमे उसकी दोस्त को कुछ चोटें आयी लेकिन उस व्यक्ति की मौत हो गयी। तब से वह doll उसी museum में रखी हुई है।

Final words:

हम उम्मीद करते है की आपको हमारे द्वारा ऊपर दी गयी कहानी Annabelle Doll Real Story in Hindi पसंद आयी होगी। आप इस कहानी को अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते है। जिससे वह भी Annabelle doll ki kahani के बारे में जान सके।

Read also:

True Friendship Story in Hindi | सच्ची दोस्ती की कहानी

Success Businessman Story in Hindi | सफल व्यापारी की कहानी

The Happy Prince Story in Hindi | द हैप्पी प्रिंस स्टोरी

Rapunzel Story in Hindi | रॅपन्ज़ेल की कहानी हिंदी में 2022

Leave a comment

close