True love story in Hindi

Best True Love Story in Hindi | प्यार की सच्ची कहानी हिंदी में


True love story in Hindi
True love story in Hindi

True Love Story in Hindi:

रमा और मदन की प्रेम कहानी

True Love Story in Hindi: एक बार की बात है सोहनपुर गांव में रमा और मदन रहते थे। वह दोनों एक दूसरे से बहुत प्यार करते थे। वह एक झोपड़ी में रहने के बावजूद भी प्यार से रहते थे उनके पास पैसों की बहुत कमी थी। जिसके कारण उन्हें दो वक्त के खाने के लिए भी दिक्कत का सामना करना पड़ता था।

मदन गांव के ही एक जमींदार के यहां खेतों में काम करता था। जिसके लिए उसको बहुत कम पैसे मिलते थे। रमा भी मदन के जाने के बाद जमींदार की पत्नी के यहां झाड़ू पोछे का काम करती थी। रमा के बाल बहुत ही काले और घने थे रमा को यह बहुत इच्छा थी कि वह अपने बालों में एक चांदी की पिन लगाएं।

जिससे उसके बाल और भी खूबसूरत लगेंगे।  मदन भी रमा की इस इच्छा को जानता है लेकिन पैसों की तंगी के कारण वह कुछ भी नहीं कर पाता। जमींदार की पत्नी के बाल झड़ने के कारण बहुत ही कम बचे थे लेकिन जब वह रमा के बालों को देखती तो उसे बहुत जलन होती थी।

कुछ दिनों के बाद रमा का जन्मदिन आने वाला था। वह रमा के जन्मदिन पर उसको चांदी की पिन उपहार देना चाहता था। मदन एक दिन जमींदार की खेतों में काम करने के बाद कुछ समय निकालकर बाजार गया।

जहां उसने बालों में लगाने वाली चांदी की पिन का दाम पूछा दुकानदार ने चांदी की पिन  का दाम ₹50 बताया। यह सुनकर मदन घर वापस लौट आया क्योंकि मदन के पास इतने पैसे नहीं थे।

लेकिन उसने सोचा कि वह जमींदार से कुछ पैसे उधार लेकर अबकी बार अपनी पत्नी रमा को उसके जन्मदिन पर यह पिन उपहार देगा क्योंकि वह अपनी पत्नी के लिए कभी भी कुछ अच्छा नहीं कर पाया था।

वहीं दूसरी तरफ रमा भी अपने पति मदन को अपने जन्मदिन के उपलक्ष्य में नई कमीज देना चाहती थी। क्योंकि मदन की पहले की कमीज़ काफी पुरानी हो गई थी। रमा भी नई कमीज़ लाने के लिए जमींदार की पत्नी से उधार मांगने की सोच रही थी।

Most romantic love story in Hindi

अगले दिन मदन जमींदार के पास गया और ₹50 उधार देने के लिए जमींदार को कहा जमींदार ने मदन को कहा कि वह उसको ₹50 उधार नहीं दे सकता अगर उसे पैसे की जरूरत है तो पास के गांव में एक मेला लगा है।

जिसमें वह पहलवानों के साथ लड़कर ₹50 कमा सकता है क्योंकि वह शरीर से भी तंदुरुस्त है। रमा भी अगले दिन मदन को बिना बताए जमींदार की पत्नी से उधार लेने चली गई। जमींदार की पत्नी रमा से बोली वह किसी को उधार नहीं देती वह तो केवल लेन-देन का काम करती है।

वह बोली कि वह रमा को पैसे दे देगी लेकिन उसके बदले रमा को अपने बाल काटकर देने होंगे। यह सुनकर एक बार तो रमा आश्चर्यचकित हो गई लेकिन वह अपने पति मदन के लिए एक नई कमीज लेना चाहती थी।

अब वह दिन भी आ गया जिस दिन रमा का जन्मदिन था उस दिन रमा ने अपने बाल काटकर जमींदार की पत्नी को दे दिए और इसके बदले में उसे कुछ पैसे मिले जिससे उसने मदन के लिए नई कमीज ले ली।

वही मदन भी रमा को बिना बताए दूसरे गांव में जाकर पहलवानों से लड़ा और कुश्ती से मिले हुए पैसों से रमा के लिए वही चांदी की क्लिप लेकर आ गया। लेकिन उसके शरीर में पहलवान से लड़ने के कारण जगह-जगह पर घाव हो गए थे।

जिससे उसका शरीर बहुत दर्द कर रहा था जब वह घर पहुंचा तो रमा ने अपना सर साड़ी से ढक रखा था। मदन ने रमा को वह चांदी की पिन देते हुए बोला कि तुमको चांदी की पिन को अपने बालों में लगाने की बड़ी इच्छा थी न आज यह पिन अपने सुंदर बालों में लगा लो।

तभी एक हवा का झोंका आया और साड़ी का पल्लू रमा के सिर से नीचे गिर गया। जिसे देखकर मदन दंग रह गया। तभी रमा ने भी नई कमीज मदन को देते हुए सारी बात बताइ।  जिससे दोनों को उपहार के लिए एक दूसरे का त्याग का पता लगा।

यह भी पढ़े: शेर और बन्दर की दुश्मनी

रमा और मदन एक दूसरे से बहुत प्यार करते थे। जिसके लिए रमा ने  अपने बालों की भी परवाह नहीं की और मदन ने रमा के चांदी के पिन के लिए अपने शरीर को ही दांव पर लगा दिया। इसके बाद रमा और मदन का प्यार और  भी गहरा हो गया।

हम उम्मीद करते है की आपको रमा और मदन की Most romantic heart touching true love story in Hindi बहुत पसंद आयी होगी। आप इसके बारे में नीचे कमेंट भी कर सकते है।

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *