Home remedies for piles | बवासीर को ठीक करने के घरेलु नुस्ख़े

Home remedies for piles | बवासीर को ठीक करने के घरेलु नुस्ख़े

Home remedies for piles | बवासीर को ठीक करने के घरेलु नुस्ख़े
Home remedies for piles | बवासीर को ठीक करने के घरेलु नुस्ख़े

Home remedies for piles | बवासीर को ठीक करने के घरेलु नुस्ख़े: हमारे समाज में बवासीर की समस्या बढ़ती ही जा रही है। इसके असल आकड़े इसलिए सामने नहीं आ पाते क्योंकि बहुत से लोग इस बीमारी को छुपाते है और दूसरों को बताने में शर्माते है और खुद ही अंदर ही अंदर इस परेशानी का सामना करते है। बवासीर एक दर्दनाक बीमारी है। लेकिन यह आजकल की जीवन शैली के कारण अपने पैर पसारती ही जा रही है।

इस बीमारी में मल के साथ खून आना , मल द्वार में मस्से होना, दर्द होना , लगातार जलन बने रहना, मलाशय में गाँठ का बनना आदि शामिल होते है। इन सब कारणों के कारण व्यक्ति हो उठने, बैठने , चलने फिरने में दिक्कत होती है।

शुरुवाती अवस्थाओं में इसको घरेलू इलाज के द्वारा इसको ठीक किया जा सकता है। लेकिन अंतिम अवस्था में डॉक्टर की सलाह से इलाज कराना ही बेहतर उपाय है। अंदरूनी बवासीर में मस्से मल द्वार के अंदर ही होते है जो शुरू में दर्द नहीं करते लेकिन इसका पता मल के साथ खून आने पर ही चलता है और इसको खुनी बवासीर भी कहते है।

बाहरी बवासीर में मस्से मल द्वार में बाहर की तरफ लटके हुए होते है जो बाद की अवस्था में धीरे धीरे बड़े होते जाते है। इनमे दर्द महसूस होता है।

Causes of piles | बवासीर होने के कारण

बवासीर होने के बहुत से कारण होते है लेकिन इसके होने का एक मुख्य कारण कब्ज़ का होना है। जब कब्ज़ बहुत पुरानी हो जाती है तो बवासीर का कारण बनती है। इसके अलावा मल त्यागते समय ज्यादा जोर लगाने से भी बवासीर हो सकती है।

जब लगातार रोज़ मल द्वार पर जोर पड़ता है तो परिणामस्वरूप बवासीर उत्पन्न होती है। इसके लिए आपको कभी भी मल करते समय ज्यादा ज़ोर नहीं लगाना चाहिए।

यदि मल नहीं आ रहा है तो जब बाद में जब भी मल का दवाब बने आप तब मल कर सकते है। यदि आप खाने में ज्यादा मिर्च मसाले और ज्यादा माँसाहारी भोजन का सेवन करते है तो इससे भी बवासीर होने के बहुत चांस रहते है। यह अक्सर देखा गया है की जो लोग माँसाहारी भोजन ज्यादा मिर्च मसाले के साथ करते है उनको यह ज्यादा होता है।

Home remedies for piles | बवासीर को ठीक करने के घरेलु नुस्ख़े

आपको सबसे पहले बवासीर को ठीक करने के लिए अपनी कब्ज़ पर ध्यान देना चाहिए। आप इसकी जड़ को ठीक करके ही इससे पूरी तरह से मुक्ति पा सकते है अन्यथा यह बीमारी ठीक होने पर भी दोबारा हो सकती है। आपको अपनी कब्ज़ को ठीक करने के लिए त्रिफला चूर्ण का सेवन कर सकते है। आप इस चूर्ण के बारे में तो जानते ही होंगे जो की आंवला , हरड़ और बहेड़ा के मिश्रण से बनती है।

आपको इस चूर्ण को 4 से 5 ग्राम की मात्रा में चम्मच की सहायता से 1 गिलास हल्का गुनगुने पानी के साथ रात को सोते समय लेना है। इसके लगातार सेवन करने से आपकी कब्ज़ पूरी तरह से दूर होगी। इसके सेवन से आपका पेट सुबह अच्छे से साफ़ हो जायेगा।

यह आपके मल को मुलायम बनाती है जिससे यह आसानी से निकल जाता है और जब आपको बवासीर हो तो यह बहुत अच्छा रहता है क्योंकि आपके मल द्वार में मस्सें होते है ऐसे में सख्त मल उनको और नुक्सान पहुंचा सकता है।

इस त्रिफला चूर्ण के उपाय के साथ आप बवासीर का इलाज कर सकते है। आप बवासीर को ठीक करने के लिए 1 गिलास ताज़ा गाय का दूध लेना है और 1 निम्बू लेना है। अब आपको पहले निम्बू को किसी साफ़ बर्तन में निचोड़ लेना है इसके बाद ऊपर से इसमें 1 गिलास दूध डालना है। इस दूध को आपको 7 दिन लगातार सुबह के समय खाली पेट सेवन करना है। यह करने से आपकी बवासीर ठीक हो जाएगी।

यह इसको ठीक करने के लिए अचूक उपाय है जो आजमाया गया है। यदि आपको ख़ूनी बवासीर है तो आप इसके लिए जामुन का प्रयोग कर सकते है। आपको पंसारी की दूकान से जाकर जामुन की गुठली का चूर्ण लाना है। अब इस चूर्ण को 3 से 4 ग्राम की मात्रा में सुबह के समय पानी के साथ लेना है।

इसके 2 से 4 दिन के प्रयोग से ही आपको मल में खून आना बंद हो जायेगा। आपको बवासीर की स्थिति में दिन में भरपूर पानी पीना है इससे भी आप कब्ज़ से बचेंगे और यह आपके मल को सख्त होने से बचाएगा।

Home remedies for piles | बवासीर को ठीक करने के घरेलु नुस्ख़े

आप इसके लिए दिन में 10 से 12 गिलास पानी पी सकते है। आपको इस बात  रखना है की मल द्वार एरिया में आपको साबुन का बिलकुल भी प्रयोग नहीं करना है। बवासीर में सेब के सिरके का प्रयोग भी बहुत अच्छा रहता है क्योकि सेब के सिरके में बहुत से एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण पाए जाते है। जो इस रोग को दूर करने में बहुत काम आते है। आपको सेब के सिरके को किसी साफ़ बर्तन में 2 चम्मच की मात्रा में निकाल लेना है।

अब इसको रुई की सहायता से अपने प्रभावित जगह पर लगाना है। इसके कुछ दिनों के लगातार प्रयोग से आपको बहुत राहत मिलेगी। इसके अलावा आप बवासीर को ठीक करने के लिए अलोएवेरा का सहारा भी ले सकते है। आपको अलोएवेरा की ताज़ा पत्तियाँ लेनी है अब इन पत्तियों को बीच से काट कर इसका गूदा निकाल लेना है।

इस गूदे को आपको अपने प्रभावित जगह पर लगाना है यह आपको बहुत ही राहत देने वाला है। इसके कुछ दिनों के प्रयोग से आपका बवासीर ठीक होने लगेगा। यह इसके बहुत से औषधीय गुणों के कारण होता है।   

यह भी पढ़े: How to stop hair fall | बाल का झड़ना कैसे रोके

आपको इससे जल्द राहत पाने के लिए अपने खाने में फाइबर युक्त भोजन को शामिल करना होगा। फाइबर युक्त भोजन में सलाद और फल का सेवन आप कर सकते है।

आप इसमें मौसमी फलों का प्रयोग करे। आपको इस बात का भी ध्यान रखना है की आप सूती कपड़े का प्रयोग करे ख़ासकर अंडर गारमेंट आपको सूती कपड़े के प्रयोग करने है। आपको सुबह के समय प्रतिदिन प्राणायाम का सहारा लेना है और रोज़ाना हल्का फुल्का व्यायाम जरूर करना है।

यहाँ बताये गए सभी उपाय बवासीर को शुरुवाती अवस्था को ठीक करने के लिए बहुत कारगर है। यदि किसी कारणवश आपको इससे राहत नहीं मिलती या फिर आप इसकी अंतिम स्टेज में है तो आपको डॉक्टर को जरूर संपर्क करना चाहिए।