Mahatma Gandhi Story in Hindi | महात्मा गाँधी के जीवन की सम्पूर्ण कहानी 2021

Spread the love
Mahatma Gandhi Story in Hindi
Mahatma Gandhi Story in Hindi

Mahatma Gandhi Story in Hindi | महात्मा गाँधी के जीवन की कहानी

Mahatma Gandhi Story in Hindi: दोस्तों आज हम आपको महात्मा गांधी के जीवन की कहानी के बारे में विस्तार से बताने वाले हैं। जिससे आप भी देश की आजादी में सबसे महत्वपूर्ण योगदान देने वाली इस महापुरुष के जीवन के बारे में जान सकें। महात्मा गांधी को भारत की स्वतंत्रता की लड़ाई के अलावा, उनके अहिंसा के प्रति नज़रिये और उनके सिद्धांत के कारण देश में ही नहीं बल्कि पूरी दुनिया में जाना जाता है।

महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को गुजरात के पोरबंदर में हुआ। महात्मा गांधी के पिता का नाम करमचंद गांधी और माता का नाम पुतलीबाई था। महात्मा गांधी जन्म के बाद उनका परिवार राजकोट आ गया। जहां पर उनकी प्रारंभिक शिक्षा हुई।

महात्मा गांधी का विवाह केवल 13 वर्ष की उम्र में अपने से 1 साल बड़ी कस्तूरबा गांधी से हुआ। विवाह के पश्चात महात्मा गांधी ने अपनी शिक्षा को आगे बढ़ाया। उन्होंने लंदन से अपनी वकालत की पढ़ाई पूरी करी।

महात्मा गांधी लन्दन में अपनी वकालत की पढ़ाई पूरी करने के बाद भारत वापस लौट आये। इसके बाद वह कंपनी में काम करने लगे। उसी कंपनी ने काम के कारण उनको दक्षिण अफ्रीका भेजा दिया। लेकिन दक्षिण अफ्रीका में भी अंग्रेजों का शासन था।

वहाँ उन्होंने अंग्रेजों के द्वारा बहुत से अपमान सहे। जिसके कारण उन्होंने अंग्रेजी हुकूमत के ख़िलाफ़ अपनी लड़ाई को भारत से शुरू करने का निर्णय किया। इसलिए वह 1915 ईस्वी में भारत वापस आ गए। भारत आकर महात्मा गाँधी भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस से जुड़े और स्वतंत्रता की लड़ाई में अपना योगदान शुरू किया।

महात्मा गाँधी ने अंग्रेजों के जलियाँवाला हत्याकांड के खिलाफ असहयोग आंदोलन किया। जिसमें सभी विदेशी और अंग्रेजी वस्तुओं का बहिष्कार करने की अपील देश की जनता से की। उन्होंने ब्रिटिश नौकरी और शिक्षा का भी त्याग करने का कहा।

Mahatma Gandhi ने अंग्रेजों के द्वारा नमक पर लगाए गए कर के विरोध में नमक सत्याग्रह शुरु किया और दांडी यात्रा निकाली। उन्होंने खुद नमक बनाकर इस कर का पूर्ण विरोध किया।

उनके द्वारा शुरु किये गए भारत छोड़ो आंदोलन भी बहुत प्रमुख है। जिसमे उन्होंने अंग्रेजों को सीधे तौर पर भारत छोड़ने का नारा दिया।

महात्मा गाँधी और अन्य सवतंत्रता सेनानियों के योगदान के फलसवरूप भारत को 15 अगस्त 1947 को अंग्रेजों से आज़ादी मिली।लेकिन 30 जनवरी 1948 को महात्मा गांधी को नाथूराम गोडसे ने गोली मारकर उनकी हत्या कर दी।

जिसे बाद में फांसी पर लटका दिया गया। महात्मा गांधी को उनकी मृत्यु के पश्चात भी पूरी दुनिया में उनके सिद्धांतों के कारण आज भी याद किया जाता है।

महात्मा गांधी अपने सादगी भरे जीवन के लिए जाने जाते हैं। जब उन्होंने अंग्रेजी कपड़ों का त्याग किया तो उन्होंने खुद के चरखे पर बने सूती वस्त्र और धोती पहनने का निर्णय किया। उनका खानपान भी शाकाहारी था और वह अपने साबरमती के आश्रम में रहते थे।

महात्मा गाँधी के दक्षिण अफ्रीका के जीवन की घटना

एक बार की बात है जब महात्मा गांधी दक्षिण अफ्रीका में थे तो वह ट्रेन की यात्रा कर रहे थे। वह प्रथम श्रेणी की टिकट लेकर ट्रेन में बैठे थे। जबकि उन्हें यह नहीं पता था कि प्रथम श्रेणी के डिब्बे पर केवल अंग्रेज ही यात्रा कर सकते हैं।

जब अंग्रेजों ने महात्मा गांधी को प्रथम श्रेणी के डिब्बे में यात्रा करते हुए देखा तो उन्होंने महात्मा गांधी को पीटा और थर्ड क्लास डिब्बे में जाने के लिए कहा। जब महात्मा गाँधी ने तीसरी श्रेणी के डिब्बे में जाने से इंकार कर दिया तो उन्हें अंग्रेजों ने चलती ट्रेन से ही बाहर फेंक दिया।

महात्मा गाँधी के महात्मा बनने की कहानी

सबसे पहले महात्मा गांधी ने चंपारण में जमींदारों के खिलाफ आंदोलन किया। उन्होंने जमींदारों की दमनकारी नीतियों के खिलाफ विरोध किया और एक आश्रम बनाया और उसमें ही रहने लगे।

उन्होंने गांव के लोगों को एकत्रित किया और उनकी भलाई के लिए गांव की सफाई करने, स्कूल, और हॉस्पिटल बनाने जैसे कार्य के लिए लोगों को प्रेरित किया। उन्होंने इस काम में लोगों का नेतृत्व किया। महात्मा गांधी के चंपारण सत्याग्रह कि संघर्ष के कारण ही उनको महात्मा नाम दिया गया।

FAQ (Frequently Asked Questions)

महात्मा गांधी का जन्म कब हुआ ?

महात्मा गाँधी का जन्म 2 अक्टूबर 1969 को पोरबंदर गुजरात में हुआ था।

महात्मा गांधी कौन सी जात के थे ?

महात्मा गाँधी सनातन धर्म की पंसारी जात से सम्बन्ध रखते थे।

महात्मा गांधी का मृत्यु कब हुआ था ?

महात्मा गाँधी की मृत्यु 30 जनवरी 1948 को नई दिल्ली के बिड़ला भवन में हुई थी।

Final words:

हम उम्मीद करते है की आपको हमारे द्वारा ऊपर दी गयी जानकारी Mahatma Gandhi Story in Hindi पसंद आयी होगी। आप इस जानकारी को दूसरे व्यक्तियों के साथ शेयर कर सकते है। जिससे वह भी देश की सवतंत्रता में योगदान देने वाले इस महान व्यक्ति के बारे में जान सके।

Read also:

Swami Vivekananda Story in Hindi | स्वामी विवेकानंद के जीवन की कहानी

Monkey And Crocodile Story in Hindi Written with Moral | बंदर और मगरमच्छ की कहानी

Lion and Mouse Story in Hindi Written with Moral | शेर और चूहे की कहानी हिंदी में

Pradhan Mantri Kaushal Vikas Yojana in Hindi | प्रधानमंत्री कौशल विकास योजना

Leave a comment

close