गधे की चतुराई | Hindi Story with Moral For Class 5

Spread the love
Hindi Story with Moral For Class 5

Hindi Story with Moral For Class 5

Hindi Story with Moral For Class 5: बहुत समय पहले की बात है एक गांव में एक धोबी अपने गधे के साथ रहता था। वह लोगों के घर में जाकर उनके कपड़े अपने गधे पर लाद कर लाता था और उन्हें घाट पर ले जाकर कपड़े धोता था।

इस तरह समय बीतता गया और गधा धीरे धीरे बूढ़ा हो गया। अब गधे में पहले की तरह ताकत नहीं रही। वह पहले की तरह ज्यादा वजन उठाने के लायक नहीं रहा। 1 दिन की बात है धोबी लोगों के घर पर जाकर कपड़े गधे पर लादकर घाट की तरफ जा रहा था।

उस दिन बहुत ही गर्मी थी जिसके कारण कमजोर गधा और ज्यादा थक गया था। घाट की तरफ जाते समय रास्ते में गधा एक खड्डे में लड़खड़ा कर गिर गया। धोबी ने अपने गधे को खड्डे में से निकालने के लिए बहुत कोशिश की लेकिन वह उसमें सफल नहीं हुआ।

गांव के कुछ लोगों ने भी आकर गधे को खड्डे में फंसा देखा तो उसको बाहर निकालने के लिए मदद की लेकिन वह सब भी गधे को खड्डे से न निकाल सके।

इसके बाद गांव वालों ने धोबी को सलाह दी की हम तो इस गधे को खड्डे से निकाल नहीं सकते इसलिए ऐसा करते हैं मिट्टी डालकर इस गधे को इसी में दफन कर देते हैं। इसी में हमारी और गधे की भलाई है। धोबी पहले तो मानने के लिए तैयार नहीं हुआ।

Hindi Story with Moral For Class 5

लेकिन उसके पास गांव वालों की सलाह मानने के अलावा और कोई उपाय भी नहीं था। वह अपनी जिंदगी भर पाले हुए गधे को नहीं मारना चाहता था। लेकिन गांव वालों के कहने पर उसे ऐसा करना पड़ा। इसके बाद सभी उस खड्डे में मिट्टी डालने लगे।

गधा पहले तो डर गया कि गांव वाले क्या कर रहे हैं। इस तरह तो वह खड्डे में ही दफ़न हो जायेगा। लेकिन उसने हिम्मत नहीं हारी। तभी उसको एक तरकीब सूझी। जब गांव वाले गधे के ऊपर मिट्टी डालते तो वह उस मिट्टी को झटक कर नीचे गिरा देता था।

फिर उस मिट्टी पर खड़ा हो जाता था। गांव वाले भी गधे की इस हरकत को देखकर हैरान थे। गांव वाले उस खड्डे में मिट्टी डालते गए। कुछ समय के बाद उस खड्डे में मिट्टी भरकर गधा ऊपर आ चूका था। वह कूदकर उस खड्डे से बाहर आ गया।

यह देख कर धोबी और गांव वाले बहुत खुश हुए और सभी ने गधे की चतुराई की तारीफ की।

Moral of the story: इस कहानी से हमें यह शिक्षा मिलती है कि हमें कभी भी मुश्किल परिस्थिति में घबराना नहीं चाहिए और चतुराई से काम लेना चाहिए। जिस तरह गधे ने चतुराई से काम लेकर अपनी जान बचाई।

Read also:

अन्न का अपमान | Moral stories in Hindi for Class 10

दो दोस्त | Moral Stories in Hindi New

फूटा घड़ा | Moral Stories in Hindi to Write

बदसूरत बहु | Moral stories in Hindi for students

Fiverr Se Paise Kaise Kamaye | Fiverr से पैसे कैसे कमाए 60000 महीना

Leave a comment

close