Best Hindi Mein Kahani | सबसे अच्छी हिंदी में कहानी

Spread the love
Hindi Mein Kahani
Hindi Mein Kahani

Hindi Mein Kahani | जादुई चक्की

Hindi Mein Kahani: एक बार की बात है मदनपुर गांव में दो भाई रहते थे। वह बचपन से ही एक दूसरे से बहुत लड़ते झगड़ते रहते थे। जिसकी वज़ह से जब वह बड़े हुए तो एक दूसरे से अलग रहने लगे। उनमे से छोटा भाई चंदन बहुत गरीब था। उसके पास कोई रोजगार नहीं था। वह अपने परिवार के साथ बहुत ग़रीबी में जीवन गुजार रहा था। उनके पास खाने के लिए भी पैसे नहीं होते थे।

जबकि दूसरा भाई बलवंत व्यापार करके बहुत अमीर हो गया था। उसके पास पैसों की कोई कमी नहीं थी। वह अपने परिवार के साथ खुशी खुशी रहता था और सारे त्यौहार खूब मज़े से मनाता था। बलवंत घमंडी और दुष्ट प्रवर्ति का इंसान था।

एक दिन चंदन के घर में खाने को कुछ नहीं था। उसके बीवी और बच्चे भूखे थे। उसने अपने बड़े भाई बलवंत से सहायता मांगने की सोची। वह बलवंत के घर गया और उससे कुछ पैसे उधार देने के लिए कहा। लेकिन बलवंत ने चंदन को कहा की तुम्हारा यही काम है तुमको केवल माँगना आता है। मै तुमको फूटी कौड़ी भी नहीं दूंगा। चंदन के विनती करने पर भी वह नहीं माना और उसको अपने घर से भगा दिया।

जब चंदन दुःखी होकर अपने घर जा रहा था तो रास्ते में चंदन को एक बूढ़ा इंसान दिखाई दिया। जो एक भारी लकड़ी के गट्ठर को उठाने की कोशिश कर रहा था। चंदन बहुत दयालु था। उससे यह देखा नहीं गया। उसने लकड़ी के गट्ठर को उस बूढ़े आदमी के घर तक पहुंचाने में मदद की। घर पहुँचने पर बूढ़े आदमी ने चंदन को धन्यवाद कहा और उससे उदासी का कारण जानना चाहा।

चंदन ने अपनी आर्थिक समस्या को उस बूढ़े आदमी के साथ साझा किया। बूढ़े आदमी ने कहा की इसमें वह चंदन की मदद कर सकता है। बूढ़े आदमी ने चंदन को अपने घर से लाकर एक मीठी रोटी दी। वह चंदन को बोला की इस जंगल को पार करके एक पहाड़ी है। तुमको उस पहाड़ी पर चलते हुए कुछ सेब के पेड़ नज़र आएंगे।

सेब के पेड़ के बाद एक छोटा सा घर है। वहाँ 3 बौने रहते है। तुमको उन बौंनो को यह मीठी रोटी देकर उनसे पत्थर की चक्की माँगनी है। वह जादुई चक्की है। जिससे तुम्हारी ग़रीबी दूर हो जाएगी।

यह सुनकर चंदन खुश हुआ। उसने जैसा बूढ़े आदमी ने कहा था वैसा ही किया। वह मीठी रोटी लेकर जंगल पार करके पहाड़ी पर गया। पहाड़ी पर कुछ ऊपर चढ़ने पर उसको सेब के पेड़ नज़र आये। वह चलता गया फिर उसको बूढ़े आदमी के कहे अनुसार एक छोटी सी झोपड़ी नज़र आयी। वह झोपड़ी के अंदर गया। वहाँ उसने 3 बोने देखे। शुरू में वह चंदन को देखकर गुस्सा हो गए और उससे आने के कारण पूछा।

जब चंदन ने मीठी रोटी बोनो को दिखाई तो वह बहुत ख़ुश हो गए। बोनो को मीठी रोटी बहुत पसंद थी। चंदन ने बोनो से पत्थर की चक्की मांगी। बोनो ने कहा यह साधारण चक्की नहीं है। यह जादुई चक्की है। जब भी तुमको चक्की से कुछ खाने का सामान चाहिए। तुमको इस चक्की को चलाना है और उस वस्तु को मांगना है। जिससे चक्की में से वह खाने की वस्तु निकलने लगेगी। जब तुमको चक्की को रोकना हो तुम इसके ऊपर लाल कपड़ा डाल देना। जिससे यह चक्की रुक जाएगी।

चंदन इसके बाद वह चक्की लेकर अपने घर गया। उसने अपनी बीवी को सारी बात बताई। चंदन ने फिर चक्की को जमीन पर रखा और चक्की को चलाने लगा। उसने चक्की से चावल देने को कहा। जिससे चक्की में से चावल निकलने लगे। इसके बाद उसने अपनी बीवी को लाल कपड़ा लाने को कहा। चंदन ने चक्की पर लाल कपड़ा डाल दिया। जिससे चक्की में से चावल निकलने बंद हो गए। इसके बाद चंदन ने चक्की से दाल निकाली। इससे चंदन का परिवार बहुत खुश हुआ और उन्होंने भरपेट खाना खाया।

कुछ समय बाद चंदन चक्की में से खूब अनाज निकालकर बाज़ार में बेचने लगा। जिससे वह थोड़े समय में ही बहुत अमीर हो गया और उसने अपने बड़े भाई बलवंत से भी बड़ा घर बना लिया। जब बलवंत को यह बात पता चली तो उसने चंदन के थोड़े समय में अमीर होने का राज जानना चाहा।

वह एक दिन चुपके से चंदन के घर घुस गया। जहाँ उसको जादुई चक्की के बारे में पता चला। बलवंत ने वह जादुई चक्की चुरा ली और अपने परिवार के साथ शहर छोड़ कर भागने लगा। वह गांव पार करने के लिए एक बड़ी नदी से गुजरना पड़ता था। बलवंत ने एक नाव ली और नदी पार करने लगा। बीच नदी में बलवंत को वह चक्की चलाने की सूझी। उसने चक्की चलाते हुए चक्की से नमक देने के लिए कहा।

इसके बाद चक्की में से नमक निकलने लगा। बलवंत को चक्की को बंद करना नहीं आता था। जिससे चक्की में से नमक निकलता ही चला गया। इससे पूरी नाव नमक से भर गयी। जिसमें बलवंत और उसका परिवार डूब कर मर गया। बलवंत के गलत काम की सज़ा उसके परिवार को भी भुगतनी पड़ी। इस कहानी से हमें यह सीख मिलती है की हमें कभी लालच नहीं करना चाहिए। लालच का परिणाम हमेशा बुरा ही होता है।

दोस्तों हम उम्मीद करते है की आपको Hindi Mein Kahani (हिंदी में कहानी) जादुई चक्की जरूर पसंद आयी होगी। आप इस कहानी को अपने दोस्तों के साथ share कर सकते है। यदि आपको इसी प्रकार की और चाहिए तो आप हमें comment कर सकते है।

Read more:

Bacho Ki Kahani in Hindi | बच्चों की कहानी नई हिंदी में 2021

अलीबाबा और चालीस चोर की हिंदी कहानी | Alibaba Aur 40 Chor Hindi Story

Best Story in Hindi for Class 1 | स्टोरी इन हिंदी फॉर क्लास 1

Real Ghost Most Scary Horror Stories in Hindi Written| सच्ची डरावनी भूत की कहानी हिंदी में

Leave a comment

close