Cinderella Ki Kahani Hindi Me | Cinderella Story in Hindi Written

Spread the love
Cinderella Ki Kahani Hindi Me
Cinderella Ki Kahani Hindi Me

Cinderella Ki Kahani Hindi Me | सिंडिरेल्ला की कहानी

Cinderella Ki Kahani Hindi Me: बहुत समय पहले की बात है। यूरोप के एक गांव में Cinderella नाम की एक लड़की रहती थी। वह देखने में बहुत सुन्दर और अच्छे दिल की लड़की थी। उसकी माँ की मृत्यु बचपन में ही हो गयी थी। उसके पिता ने ही उसको पाला था। कुछ समय बाद सिंडरेल्ला के पिता ने दूसरी शादी कर ली। Cinderella की सौतेली माँ अपनी दो लड़कियों के साथ सिंडिरेल्ला के घर रहने आ गयी।

Cinderella की नई माँ बहुत खड़ूस थी। वह और उसकी बेटियाँ सिंडिरेल्ला को पसंद नहीं करते थे क्योंकि वह अपनी सौतेली बहनों से ज़्यादा सुन्दर थी। कुछ दिनों के बाद Cinderella के पिता काम के सिलसिले में कुछ महीनों के लिए शहर चले गए। सिंडिरेल्ला के पिता के शहर जाने के बाद उसकी सौतेली माँ ने घर का सारा काम Cinderella से करवाना शुरू कर दिया और उसको रहने के लिए छत का स्टोर का कमरा दे दिया।

Cinderella के दोस्त अब बस पक्षी और स्टोर के कमरे के चूहे ही थे। सिंडिरेल्ला सारा दिन घर का काम करती थी और उसकी सौतेली माँ और बहने बैठी रहती थी। घर का काम करके उसके कपड़े भी फट गए थे लेकिन सौतेली माँ उसको नए कपड़े भी नहीं देती थी।

एक दिन राजा का सैनिक गांव में आया और यह हुकुम सुनाया की राज्य के राजकुमार को अपने विवाह के लिए एक लड़की चुननी है इसलिए गांव की सभी लड़कियाँ जिनकी उम्र शादी की हो गयी है अच्छे कपड़े पहन कर रविवार के दिन शाही पार्टी में आ जाएं। यह बात सुनकर गांव की सभी लड़कियाँ पार्टी के लिए अच्छे कपड़े बनवाने लगी। जिससे राजकुमार उनको चुन सकें। यह बात जब सिंडिरेल्ला की सौतेली बहनों को पता चली तो उन्होंने भी अपने लिए सुंदर गाउन बनवाएं। वह अपने गाउन पहनकर शीशे के आगे खुद को देखती और कहती थी की वह ही पार्टी में सबसे सूंदर लगेगी। Cinderella भी उस पार्टी में जाना चाहती थी लेकिन उसके पास कोई भी सूंदर कपड़ा नहीं था।

अब रविवार का दिन आ गया जब सब लड़कियों को पार्टी में जाना था। Cinderella की सौतेली बहनें भी अपने गाउन पहनकर कर तैयार हो गयी और अपने बाल सिंडिरेल्ला से बनवाये। इसके बाद वह अपनी माँ को लेकर पार्टी में जाने लगी। जब वह पार्टी में जा रहे थे तो Cinderella ने भी उनसे अपनी पार्टी में जाने की इच्छा जताई। यह सुनकर वह तीनों हॅसने लगे और सौतेली माँ ने कहा की राजकुमार को अपने लिए पत्नी चाहिए काम करने के लिए नौकरानी नहीं।

उनके जाने के बाद सिंडिरेल्ला रोने लगी और कहने लगी काश मेरे पास भी अच्छे कपड़े होते तो मै भी पार्टी में जा सकती थी। वह दुःखी होकर यह कह ही रही थी की तभी वहाँ एक तेज़ रोशनी हुई और एक परी सिंडिरेल्ला के सामने प्रकट हुई। उसने सिंडिरेल्ला से दुःखी होने का कारण पूछा तो Cinderella ने सारी बात परी को बताई। परी ने अपनी छड़ी घुमाई। जिससे सिंडिरेल्ला के फटे पुराने कपड़े सूंदर गाउन में बदल गए और उसका मेकअप भी हो गया।

Cinderella Story in Hindi Written | सिंडिरेल्ला की कहानी हिंदी में लिखी हुई

परी ने सिंडिरेल्ला के जाने के लिए एक सूंदर रथ का भी इंतजाम किया। परी ने Cinderella को कहा की याद रखना तुमको 12 बजे से पहले घर वापस आना है क्योकि 12 बजे के बाद तुम अपने पहले वाले कपड़ों में आ जाओगी। इसके बाद सिंडिरेल्ला खुशी खुशी पार्टी में चली गयी। पार्टी में वह सब लड़कियों से सूंदर लग रही थी। उसकी सौतेली माँ और बहनों ने भी सिंडिरेल्ला को नहीं पहचाना।

जैसे ही राजकुमार पार्टी में आया उसकी नज़र Cinderella पर गयी। वह पार्टी में सब लड़कियों से सूंदर लग रही थी। राजकुमार ने उसकी सौतेली बहनों को अनदेखा करके सिंडिरेल्ला के पास गया और उससे dance करने के बारे में पूछा। सिंडिरेल्ला ने डांस के लिए हामी भरी जिसके बाद वह दोनोँ डांस करने लगे। डांस करते हुए वह एक दूसरे में इतने खो गए की समय का पता ही नहीं लगा। जब सिंडिरेल्ला ने घड़ी की ओर देखा तो 12 बजने ही वाले थे तो वह पार्टी छोड़कर वहाँ से भागने लगी भागते हुए उसके पैरो से एक सैंडल निकल गया। लेकिन वह सैंडल बिना लिए ही अपने घर पहुँच गयी। घर पहुँचकर वह बहुत रोई। वह राजकुमार से प्यार करने लगी थी।

राजकुमार भी Cinderella के पीछे गए लेकिन उसको वह नहीं मिली। लेकिन सिंडिरेल्ला की सैंडल उनके हाथ लगी। जिसके बाद राजकुमार ने अपने सेनिको से यह कह दिया की पुरे गांव में जाकर देखो की किस लड़की की यह सैंडल है। राजकुमार का हुक्म सुनकर सैनिक गांव में गए और सभी लड़कियों के पैरों में वह सैंडल पहनाकर देखने लगे। लेकिन किसी भी लड़की के पैर में वह फिट नहीं आयी। अंत में वह सिंडिरेल्ला के घर पहुँचे।

Cinderella की सौतेली माँ ने सिंडिरेल्ला को कमरे में बंद कर रखा था। उसकी दोनों सौतेली बहनों ने वह सैंडल पहनने की कोशिश की लेकिन किसी को भी वह सही से नहीं आयी। सिंडिरेल्ला भी वह सैंडल पहनना चाहती थी। लेकिन उसके पास कमरे की चाबी नहीं थी। उसने अपने चूहे दोस्तों की मदद ली। चूहों ने कमरे की चाबी सौतेली माँ से चुराकर सिंडिरेल्ला के पास लेकर आये। जिससे वह कमरे से बाहर आ गयी। उसने जाते हुए सैनिकों को रोका और सैंडल पहनने की इच्छा जताई। जब सिंडिरेल्ला ने वह सैंडल पहनी तो वह उसको पूरी तरह फिट आ गयी क्योंकि वह उसकी ही थी।

इसके बाद वह Cinderella को लेकर राजकुमार के पास गए। राजकुमार ने फटे पुराने कपड़ो वाली सिंडिरेल्ला के जैसे आँखों में देखा तो उसको पता लग गया की उस दिन पार्टी में वही थी। जिसने राजकुमार के साथ डांस किया था। इसके बाद राजकुमार ने Cinderella से शादी कर ली और दोनों खुशी खुशी रहने लगे।

Final Words: दोस्तों हम उम्मीद करते है की आपको हमारे द्वारा ऊपर बताई गयी Cinderella Ki Kahani Hindi Me, Cinderella Story in Hindi Written जरूर पसंद आयी होगी। आप इस कहानी को बच्चों को सुना सकते है। उनको यह अच्छी लगेगी। आप इस कहानी के बारे में अपनी राय हमें कमेंट में जरूर दे।

Read more:

Best Hindi Mein Kahani | सबसे अच्छी हिंदी में कहानी

Bacho Ki Kahani in Hindi | बच्चों की कहानी नई हिंदी में 2021

Best Story in Hindi for Class 1 | स्टोरी इन हिंदी फॉर क्लास 1

Best 7 Motivational Books in Hindi | सबसे अच्छी प्रेरणादायक किताबें हिंदी में

50 Best Motivational Quotes in Hindi for Success in Life

25 Best Swami Vivekananda Quotes in Hindi | स्वामी विवेकानंद विचार इन हिंदी

Leave a comment

close