Health tips in hindi | स्वास्थय सुझाव हिंदी में

Health tips in hindi | स्वास्थय सुझाव हिंदी में

Health tips in hindi | स्वास्थय सुझाव हिंदी में
Health tips in hindi | स्वास्थय सुझाव हिंदी में

Health tips in hindi | स्वास्थय सुझाव हिंदी में: हर व्यक्ति की इच्छा होती है स्वस्थ और लम्बा जीवन जीने की लेकिन बहुत कम ऐसे ख़ुशनसीब लोग होते है जिनकी यह इच्छा पूरी हो पाती है। स्वस्थ जीवन का मतलब ऐसा जीवन है जो न केवल सभी प्रकार के रोगों से मुक्त हो बल्कि तनाव और परेशानी से भी मुक्त हो। जो जीवन व्यक्ति खुशी के साथ जी सकें। पहले के समय में लोगों की आयु 100 वर्ष के लगभग होती थी।

लेकिन आजकल के समय में बहुत कम लोग होते है जो 100 वर्ष का आकड़ा छू पाते है और जो छू भी पाते है उनकी हालत ऐसी होती है जो केवल काट ही रहे होते है। ज़्यादा उम्र के लोगों को न जाने कितने ही प्रकार के रोगों का सामना करना पड़ जाता है। ज़्यादा उम्र के लोगों को तो छोड़ो आजकल छोटे बच्चों और वयस्कों को ही रोग घेर लेते है।

जिसका सीधा कारण आजकल का ग़लत लाइफस्टाइल और खान पान से जुडी हुई आदतें है। आज कल हम जो खाना खाते है उसको न जाने कितना कीटनाशक और उर्वरक डाल कर पैदा किया जाता है जो बिल्कुल भी सही नहीं है। आपको जितना हो सके आर्गेनिक खाना खाने का प्रयास करना चाहिए। आज हम आपको स्वस्थ जीवन जीने के कुछ टिप्स के बारे में बता रहे है। जिनका पालन करके आप स्वस्थ जीवन जी सकते है।

Health tips in hindi | स्वास्थय सुझाव हिंदी में

दिन की शुरुवात होती है सुबह से आजकल लोगों को रात में देर तक जागकर सुबह लेट 9 -10 बजे उठने की आदत पड़ गयी है। आपको स्वस्थ जीवन के लिए सुबह जितना हो सके जल्द उठने का प्रयास करना चाहिए। आपको सुबह ब्रह्ममुहर्त में उठना चाहिए जो की बहुत अच्छा रहता है। ब्रह्ममुहर्त से अभिप्राय सुबह 3.30 से 5.30 के समय को कहा जाता है।

इस समय में उठना न केवल शरीर के लिए बल्कि आपके दिमाग के लिए भी बहुत अच्छा रहता है। यह बहुत शांत समय होता है। आपको सुबह इस समय उठ कर सबसे पहले 1 से 2 गिलास पानी पीना है। आपको जब भी पिए गुनगुना पानी का ही प्रयोग करना चाहिए ठंडा पानी पीने में गर्मी में तो अच्छा लगता है लेकिन यह पेट के लिए अच्छा नहीं रहता।

सुबह के समय गुनगुना पानी पीने आपका पेट सही से साफ़ होता है। जैसा यह कहा गया है की बहुत से रोगों की उत्पत्ति पेट से ही होती है ऐसे में यदि आप अपना पेट सही से साफ़ रखते है तो ज़्यादातर रोग आपके वैसे ही दूर हो जायेंगे। इसके बाद आपको सोच आदि से निर्वृत होकर प्राणायाम करने लग जाना है। आपको प्रतिदिन सूर्य नमस्कार प्राणायाम का अभ्यास जरूर करना है।

इसके साथ साथ यदि आप अपना वजन कम करना चाहते है तो आप सुबह के समय कपालभांति और अनुलोम विलोम प्राणायाम का अभ्यास भी कर सकते है। आप हल्का फुल्का व्यायाम भी 20 से 30 मिनट कर सकते है जिसमे आप दौड़ लगाना या तैराकी भी शामिल कर सकते है। आपको सुबह का नाश्ता जरूर करना चाहिए।    

Health tips in hindi | स्वास्थय सुझाव हिंदी में

आजकल लोग उठते ही लेट है जिनसे उनको तैयार होने का ही समय नहीं मिलता और कुछ लोग नाश्ता ही नहीं करते और जो करते है वो भी जल्दी जल्दी में सही से नहीं खा पाते। आपके लिए सुबह का नाश्ता बहुत ज़रूरी होता है। पूरी रात आप भूखे रहते है तो सुबह के समय आपके शरीर को ऊर्जा चाहिए होती है जो आपको खाने से मिलती है सुबह का खाना आपका पौष्टिक होना चाहिए जो आपको पुरे दिन ऊर्जा दे सके।

आपको नाश्ते में या सुबह के समय चाय नहीं पीनी चाहिए। यदि आप अंडे खाते है तो सुबह के समय अंडे ले सकते है। आप 1 गिलास गाय का दूध और चने भी सुबह के नाश्ते में ले सकते है। आपको रिफाइंड तेल से बनी किसी भी चीज़ का सेवन नहीं करना चाहिए। यह आपके बढ़ते कोलेस्ट्रॉल के लिए जिम्मेदार होती है। आप सरसों , मूंगफली या सोयाबीन का तेल फ़िल्टर किया गया प्रयोग कर सकते है।

आपको स्वस्थ जीवन के लिए दिन में 10 से 12 गिलास पानी पीना चाहिए। यह आपके शरीर के लिए जरुरी होता है।

जैसा की आप जानते है की हमारे शरीर का 70 % हिस्सा पानी से बना होता है। इसलिए शरीर के सुचारु ढंग से काम करने के लिए आपको सही मात्रा में पानी का रोज़ाना सेवन करना चाहिए। लेकिन आपको खाना खाने के 1 घंटे बाद तक पानी नहीं पीना चाहिए। यह आपके पेट के हाजमे के लिए सही नहीं होता।

आपको स्वस्थ रहने के लिए मार्किट के सभी फ़ास्ट फ़ूड से दूर रहना चाहिए इसका सेवन आपके पेट को ख़राब कर देता है जो बीमारी का कारण बनता है।

Health tips in hindi | स्वास्थय सुझाव हिंदी में

आपको माँसाहारी भोजन को भी नहीं करना चाहिए यह भी अच्छी हेल्थ के लिए सही नहीं है। आपको शुद्ध शाकाहारी भोजन करना चाहिए जिससे आपका शरीर भी स्वस्थ रहता है और साथ में मन भी अच्छा रहता है। आपने यह कहावत तो सुनी होगी जैसा खाये अन्न वैसा होगा मन इसलिए शुद्ध शाकाहारी खाना खाने से आपको अच्छे विचार आएंगे आप गुस्सा कम करेंगे।    

आपको किन्ही भी दो प्रकार की विपरीत वस्तुओ का सेवन नहीं करना है। जिस तरह आपको दूध और दही का सेवन साथ में नहीं करना है। इसी तरह आपको शहद और घी का भी साथ में सेवन नहीं करना और आपको किसी भी प्रकार के खट्टे फलों के साथ दूध का सेवन नहीं करना है।

यह भी पढ़े : Benefits of Aloe Vera | अलोएवेरा के लाभ

यदि आप इस तरह के दो खाने का एक साथ सेवन करते है तो यह पाचन संबंधी विकार उत्पन्न करता है। आपको दिन में मौसमी फलों का सेवन जरूर करना चाहिए। यह आपके लिए अच्छा रहेगा। आपको रात का भोजन जितना जल्दी हो सके उतना जल्दी कर लेना है और आपको रात का भोजन हल्का करना है।

रात का भोजन करने के तुरंत बाद नहीं सोना है आप रात के भोजन के बाद थोड़ी देर टहल सकते है। आप रात को सोने से पहले हल्का गुनगुना दूध में आधा चम्मच हल्दी मिला कर पी सकते है। आपको रात को सही समय पर सो जाना चाहिए जिससे आप सुबह सही समय पर उठ सके। आपको रात को कम से कम 7 से 8 घंटे की नींद लेनी चाहिए।